Connect with us

Hi, what are you looking for?

Adiwasi.com

Jharkhand

मणिपुर हिंसा को लेकर हेमंत सोरेन ने “भारी मन और गहरी पीड़ा” के साथ राष्ट्रपति को पत्र लिखा

रांची। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मणिपुर हिंसा को लेकर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को पत्र लिखा है। उन्होंने पत्र लिखकर कहा कि मै मणिपुर राज्य में जारी हिंसा पर भारी मन और गहरी पीड़ा के साथ आपको लिखने के लिए मजबूर हूं। उन्होंने लिखा कि वहां शांति बहाल करने की दिशा में काम होना चाहिए।

हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखंड के मुख्यमंत्री और इस देश के एक चिंतित नागरिक के रूप में, मैं मणिपुर में बिगड़ती स्थिति से बहुत व्यथित और चिंतित हूं। मणिपुर में सैकड़ों निर्दोष लोगों की जान चली गई है।

उन्होंने कहा कि संपत्ति और सार्वजनिक इंफ्रास्ट्रक्टर का विनाश, अकथनीय यातना और महिलाओं का यौन शोषण, विस्थापन से प्रभावित क्षेत्रों में रहने वाले कई जातीय समूहों के बीच असुरक्षा की गंभीर भावना पैदा हो गई है।

झारखंड सीएम ने कहा कि दो दिन पहले सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो ने हम सभी को अंदर तक झकझोर कर रख दिया है। हमारे संविधान द्वारा प्रदत्त मानव जीवन और सम्मान के आंतरिक सिद्धांत पूरी तरह से टूटते नजर आ रहे हैं। एक समाज को कभी भी उस बिंदु तक नहीं पहुंचना चाहिए, जहां लोगों को उस तरह की शारीरिक, भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक क्रूरता का सामना करना पड़े, जैसा हमने मणिपुर में देखा है।

पूरी तरह से विफल हुई मणिपुर सरकार
यह जानकर हैरानी हुई कि राज्य सरकार अपने ही लोगों की रक्षा करने और हिंसा और अशांति को कम करने में विफल रही है। मणिपुर दो महीने से ज्यादा समय से जल रहा है। मीडिया रिपोर्टों का अनुमान है कि बच्चों सहित 40,000 से अधिक लोग विस्थापित गए हैं। वे अस्थायी शिविरों में रह रहे हैं।

हेमंत सोरेन ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि यहां कानून का शासन पूरी तरह से टूट गया है और यह बेहद दुखद है कि कुछ निहित स्वार्थों के मौन समर्थन के साथ, यह जातीय हिंसा निरंतर जारी है।

Share this Story...
Advertisement

Trending

You May Also Like

National

मणिपुर हाईकोर्ट ने मैतेई समुदाय को अनुसूचित जनजाति (ST) सूची में शामिल करने पर विचार करने के आदेश को रद्द कर दिया है। जस्टिस...

Jharkhand

रांची। बिहार में सियासी रस्साकशी के बाद अब देश की निगाहें झारखंड की सियासत पर टिकी हुई है। जमीन घोटाला मामले में मनी लॉन्ड्रिंग...

Jharkhand

रांची। झारखंड सरकार के 4 साल पूरे होने के अवसर पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्य के अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाति के लाभुकों...

Exclusive

लंदन। यह कहानी पूर्वी सिंहभूम जिले (झारखंड) के अजय हेम्ब्रम की है, जिन्होंने उच्च शिक्षा का ख्वाब देखा था। भारत में शिक्षा तक तो...

error: Content is protected !!