Connect with us

Hi, what are you looking for?

Adiwasi.com

Exclusive

आदिवासी डॉट कॉम का असर: अवैध लॉटरी के खिलाफ कार्यवाही शुरू

सरायकेला। फिर एक बार, आदिवासी डॉट कॉम की खबर का असर हुआ है। तीन दिन पहले हमने झारखंड के सरायकेला-खरसावां समेत अन्य जिलों में चल रहे अवैध/ नकली लॉटरी के गोरखधंधे का मुद्दा उठाया था, और उसके 48 घंटों के भीतर झारखंड पुलिस ने इस मामले में कानूनी कार्यवाही शुरू कर दी है।

इसी संबंध में, कल एक व्यक्ति को अवैध लॉटरी टिकटों के साथ गिरफ्तार किया गया है। सरायकेला पुलिस ने ट्विटर पर जानकारी दी है कि सरायकेला थाने (सीनी ओ०पी०) को मिली गुप्त सूचना के सत्यापन के पश्चात सीनी मोड़ में एक व्यक्ति को अवैध रूप से लॉटरी टिकट बेचते हुए करीब 74 बंडल लॉटरी टिकटों के साथ गिरफ्तार किया गया है।

दो दिन पहले, साहिबगंज जिले की पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी (राजमहल) के नेतृत्व में राधा नगर थाना क्षेत्र में छापामारी की, जिसमें करीब 36 करोड़ 15 लाख 75 हजार का अवैध लॉटरी टिकट बरामद किया गया एवं संलिप्त अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया।

शुरुआत काफी बढ़िया है, लेकिन इस दिशा में काफी काम किया जाना बाकी है। छोटे-मोटे एजेंटों के साथ-साथ उन बड़े माफियाओं के खिलाफ भी कार्यवाई होनी चाहिए, जो इस नकली लॉटरी को छपवा कर, उसे बाजारों तक पहुँचा रहे हैं। हमें आशा है कि झारखंड पुलिस सक्रियता के साथ राज्य के नागरिकों को अवैध/ नकली लॉटरी के नाम पर हो रहे इस फर्जीवाड़े से बचाएगी।

फिलहाल, इस कार्यवाई के लिए झारखंड पुलिस को धन्यवाद देते हुए हम उम्मीद करते हैं कि बहुत जल्द इस गंदे तालाब की बड़ी मछलियों को भी कानून की जद में लाया जाएगा। आप सभी के सहयोग से, भविष्य में भी, आदिवासी डॉट कॉम ऐसे जन-सरोकार के मुद्दे उठाता रहेगा।

जरूर पढ़िए:
लॉटरी या लूट ?

Share this Story...

You May Also Like

Jharkhand

सरायकेला-खरसावां जिले (झारखंड) के चांडिल का रहने वाला महेश टुडू (नाम बदला गया है) मजदूरी करता है और जो कुछ भी वह कमाता है,...

Jharkhand

जमशेदपुर। कहने को तो देश संविधान से चलता है और भारतीय दंड संहिता की धाराएं भी सभी अपराधियों के साथ एक जैसा सलूक करने...

Jharkhand

सरायकेला। आज से ठीक पाँच दिन पहले, आदिवासी डॉट कॉम ने चांडिल एवं आसपास के क्षेत्र में चल रहे फर्जी लॉटरी के कारोबार पर...

Jharkhand

रांची। अगर आप किसी अपराधी के खिलाफ मीडिया/ सोशल मीडिया पर शिकायत करें और पुलिस उस पर कार्यवाही की जगह आप पर ही मुकदमा...

error: Content is protected !!