Connect with us

Hi, what are you looking for?

Adiwasi.com

Jharkhand

आदिवासी जमीन की हेराफेरी की जांच के लिए बनी विशेष कमेटी का कार्यकाल बढ़ा

रांची। झारखंड में आदिवासी जमीन की हेराफेरी की जांच के लिए बनी विधानसभा की विशेष कमेटी को 31 दिसंबर तक अवधि विस्तार दे दिया गया है। यह कमेटी आदिवासी जमीन की हेराफेरी संबंधी शिकायतों की जांच कर रही है।

ज्ञात हो कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के सुझाव पर विधानसभा के मॉनसून सत्र में यह विशेष कमेटी गठित की गयी थी। कमेटी को 45 दिनों में रिपोर्ट देनी थी, लेकिन कमेटी के संयोजक श्री स्टीफन मरांडी सहित सदस्यों का मानना था कि इतने कम दिनों में इस बड़े मामले को लेकर जांच पूरी नहीं हो सकती है। इस कारण कमेटी के आग्रह को विधानसभा अध्यक्ष रबींद्रनाथ महतो ने स्वीकार कर लिया है और फिलहाल कमेटी का कार्यकाल 31 दिसंबर तक बढ़ा दिया गया है़।

गौरतलब है की राज्य में सीएनटी-एसपीटी एक्ट का उल्लंघन कर 21 हजार से अधिक परिवारों की 21,173 एकड़ जमीन गैर -आदिवासियों के नाम कर दी गई। विशेष विनिमय पदाधिकारी (एसएआर कोर्ट) के न्यायालय के स्तर से मुआवजा के जरिये ये मामले निष्पादित कर दिए गए। अभी एसएआर कोर्ट समाप्त हो चुका है। फिलहाल 4727 आदिवासी परिवारों की 3879 एकड़ भूमि से संबंधित मामले लंबित हैं। इनमें से सर्वाधिक 3541 मामले रांची में जमीन की हेराफेरी से जुड़े हैं। जबकि लातेहार में 657 और पाकुड़ में 110 मामले हैं।

Share this Story...

You May Also Like

Jharkhand

रांची। झारखंड में #INDIA गठबंधन की सरकार ने विश्वास मत जीत लिया है। विधानसभा में हुए शक्ति परीक्षण में सत्ता पक्ष को 47 वोट...

Jharkhand

रांची। झारखंड सरकार के 4 साल पूरे होने के अवसर पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्य के अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाति के लाभुकों...

Jharkhand

साहिबगंज। झारखंड के साहिबगंज जिले में एक शख्स ने अपनी दूसरी पत्नी की हत्या कर के शव के कई टुकड़े कर दिए। रूबिका पहाड़िन...

Jharkhand

दुमका। आज दुमका के के.बी. वाटिका हॉल में Mates (मेट्स) और असंगठित कामगारों के साथ SRMI टीम ने बैठक की। बैठक का आयोजन दुमका...

error: Content is protected !!