Connect with us

Hi, what are you looking for?

Adiwasi.com

National

आदिवासी बहुल डिंडौरी जिले में शत-प्रतिशत कोरोना वैक्सीनेशन

डिंडौरी (मध्य प्रदेश)। आदिवासी बहुल जिला डिंडौरी आज 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लगाकर शत प्रतिशत वैक्सीनेशन करने वाला जिला बन जाएगा। प्रशासन द्वारा इसकी पूरी तैयारी कर ली गई है। बड़ी उपलब्धि यह है कि जिले के 364 ग्राम पंचायतों में से लगभग दो सौ से अधिक ग्राम पंचायतों में वैक्सीनेशन शत प्रतिशत हो चुका है।

आंकड़ों के अनुसार अब मात्र 14 हजार लोग ही शेष रह गए हैं, जिन्हें वैक्सीन की पहली डोज लगना है। 27 सितंबर तक वैक्सीन की पहली डोज शत प्रतिशत लगाने के लिए समय सीमा निर्धारित की गई थी। डिंडौरी जिला यह कीर्तिमान रचने का तैयार है। जिला के साथ विकासखंड स्तरीय अधिकारियों और मैदानी अमलों को इस अभियान में लगा दिया गया है। सोमवार को ढूंढ ढूंढकर वैक्सीन न लगवा पाने वाले लोगों को टीका लगाया जाएगा।

जिले में वैक्सीनेशन के लिए वोटर लिस्ट के आधार पर 18 वर्ष से अधिक उम्र के कुल चार लाख 96 हजार 448 लोग चिंहित किए गए थे। कलेक्टर रत्नाकर झा के निर्देश में जब वोटर लिस्ट सुधार का कार्य तेजी से हुआ तो स्थिति यह आई कि जिले भर में लगभग 16 हजार उन लोगों के नाम हटाए गए जिनकी या तो लंबे समय पहले मौत हो चुकी है या तो युवतियां विवाह के बाद अपने ससुराल जा चुकी हैं। डबल नाम वाले लोगों को भी सूची से हटाया गया। इस अभियान में निर्वाचन विभाग के राकेश अवधिया सहित पूरा अमला दिन रात जुटा रहा।

चार लाख 55 हजार से अधिक को लग चुका है टीका
जिले में अब तक चार लाख 55 हजार से अधिक लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। लगभग 15 हजार से अधिक लोग ऐसे चिंहित किए गए हैं जो जिले से पलायन रोजगार की तलाश मे कर गए हैं। उन लोगों को भी टीका लगा या नहीं इसकी जानकारी भी एकत्रित की गई है। बताया गया कि सोमवार को जिन गांवों में लोग टीका लगाने से छूटे हैं उन्हें टीका लगाने के लिए गांव गांव में अमला तैनात होगा। इसकी कार्ययोजना तैयार की गई है। रविवार को दिन भर कलेक्टर ने सभी नोडल अधिकारियों से बात कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं।

लापरवाही बरतने पर निलंबन का प्रस्ताव व नोटिस
कलेक्टर रत्नाकर झा ने टीकाकरण कार्य में लापरवाही बरतने और लगातार अनुपस्थित रहने के कारण परियोजना अधिकारी समनापुर विपिन डेहरिया के विरूद्ध उनका निलंबन प्रस्ताव कमिश्नर जबलपुर को भेजने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने इसी प्रकार से बैठक में अनुपस्थित रहने के कारण जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति मनोज श्रीवास्तव को भी नोटिस जारी करने के कहा है। कलेक्टर श्री झा ने टीकाकरण कार्य में लापरवाही बरतने के कारण टीकाकरण नोडल अधिकारी करंजिया सेक्टर बीईओ मदन सिंह परस्ते और परियोजना अधिकारी महिला बाल विकास ललिता चंचल के विरूद्ध नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैं। (नई दुनिया)

Share this Story...

You May Also Like

National

नई दिल्ली। चार विधानसभा चुनावों के नतीजों में भाजपा ने मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में जीत हासिल की है, वहीं कांग्रेस तेलंगाना में सरकार...

National

भोपाल। चार राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे आ चुके हैं। मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में जहां भारतीय जनता पार्टी (BJP) की...

National

भोपाल। मध्य प्रदेश में फिर एक बार भाजपा नेता पर आदिवासी व्यक्ति के साथ अभद्रता करने का आरोप लगा है। इस बार अनूपपुर जिले...

National

पन्ना। मध्य प्रदेश में आदिवासियों के साथ अपराध की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला पन्ना जिले के गुनौर थाना...

error: Content is protected !!