Connect with us

Hi, what are you looking for?

Adiwasi.com

Jharkhand

आदिवासी संगठनों ने राजभवन के समीप धरना दिया

रांची। कई आदिवासी संगठनों ने गुरुवार को आदिवासियों के धार्मिक व सामाजिक जमीन को भू-माफियाओं से बचाने को लेकर राजभवन के समीप धरना दिया। इसमें केंद्रीय सरना समिति, राजी पड़हा सरना, प्रार्थना सभा भारत, आदिवासी छात्रसंघ, 12 और 21 पड़हा तिलता, 22 पड़हा समिति बाजरा सहित अन्य सामाजिक संगठनों ने हिस्सा लिया।

इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि सरकारी अधिकारियों की मिलीभगत से रातू के तिलता में चार एकड़ 29 डिसमिल गैर मजरुआ भूमि जिसमें आदिवासी आषाढ़ी पूजा सदियों से कर रहे हैं। वहां भू-माफिया कब्जा कर घेराबंदी कर रहे हैं। जब ग्रामीणों ने विरोध किया तो एक ग्रामीण पर चार चक्का वाहन चढ़ा दिया और तीन निर्दोष ग्रामीणों पर झूठा मुकदमा कर दिया गया और 18 लोगों को नामजद केस दायर कर दिया गया। जबकि ग्रामीण पर वाहन चढ़ाने वाला आरोपी खुलेआम घूम रहा है।

धरने के माध्यम से रातू के सीओ, थानेदार व ग्रामीण एसपी को अविलंब बर्खास्त करने, जेल भेजे गए ग्रामीणों को अविलंब रिहा करने, 18 नामजद ग्रामीणों के ऊपर से केस वापस लेने और दोषी भू-माफियों पर कानूनी करवाई करने की मांग की गई। मौके पर नारायण उरांव, रवि तिग्गा, शिवा कच्छप, प्रभात तिर्की, बुधुवा उरांव, संजीत गोप, संजय, सीमा उरांव, कविता तिर्की, प्रिया कच्छप, सोमारी उरांव सहित सैकड़ों लोग काफी संख्या में मौजूद थे।

Share this Story...

You May Also Like

Jharkhand

रांची। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब अपने निर्धारित कार्यक्रम से एक दिन पहले 14 नवंबर को ही झारखंड आ जाएंगे। पहले जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी...

National

कोलकाता। कोलकाता के धर्मतल्ला में शुक्रवार को हजारों की संख्या में आदिवासी समाज से जुड़े लोग जुटे, जहां उन्होंने समान नागरिक संहिता (यूसीसी) और...

Jharkhand

रांची। झारखंड की राजधानी रांची में आदिवासी संगठनों और आदिवासी संघर्ष मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को पिस्कामोड़ के टंगरा टोली में हिंदुवा तिर्की...

Jharkhand

रांची। अब इसे झारखंड का दुर्भाग्य कहें या अधिकारियों का दुस्साहस अथवा सत्ता की नाकामी, लेकिन झारखंड में उस सेना के कब्जे वाली जमीन...

error: Content is protected !!